बिहार : IPS का कारनामा, दोस्त को बनाया नकली चीफ जस्टिस, DGP को केस खत्म कराने के लिए किया फोन

371

हम जिस आईपीएस अधिकारी की बात कर रहे हैं वे बिहार कैडर के आईपीएस अधिकारी हैं। उनका नाम है आदित्य कुमार। उनके ऊपर शराबबंदी केस से संबंधित मुकदमे दर्ज किए गए थे। इससे बचने के लिए उन्होंने अपने दोस्त को हाई कोर्ट का नकली चीफ जस्टिस बनाया और डीजीपी के पास फोन करवाया। केस खत्म करने के लिए जब मामले का भंडाफोड़ हुआ तो आदित्य कुमार सहित उनके दोस्तों के खिलाफ केस दर्ज करवाया। इधर आईपीएस आदित्य कुमार फोन स्वीच आफ कर गायब हो गए हैं। जिन लोगों को गिरफ्तार किया गया है उसमें अभिषेक अग्रवाल, गौरव राज, शुभम कुमार और राहुल रंजन जयसवाल का नाम शामिल है।

आइए अब आपको बताते हैं कि आईपीएस पर आरोप क्या लगे थे। गया जिले में एसएसपी रहते आदित्य कुमार के उपर मद्द निषेध से संबंधित मामले में लापरवाही बरतने का आरोप लगा था। इसके बाद उन्हें एसएसपी के पद से हटा दिया गया था। गया के फतेहपुर थाने में उनके खिलाफ केस दर्ज हुआ था।

इस मामले में बताया जाता है कि नकली चीफ जस्टिस ने बिहार के डीजेपी को 40 से 50 बार फोन किया और खुद को चीफ जस्टिस बताया। हैरान करने वाली बात यह है कि डीजेपी साहब भी समय-समय पर नकली चीफ जस्टिस को फोन करते रहे। उनको इतनी भी भनक नहीं लगी कि जिस आदमी से हम बात कर रहे हैं वह असली चीफ जस्टिस ना होकर नकली चीफ जस्टिस है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here