झारखण्ड : घर से निकली 12 साल की बच्ची खून से लथपथ मिली

391

क सरकारी गेस्ट हाउस के परिसर में 12 वर्षीय एक बच्ची रविवार को खून से लथपथ मिली थी और वह दर्द से कराह रही थी. मामले में पुलिस ने मंगलवार को बताया कि घटना तिरवा इलाके की है. इस घटना का एक वीडियो भी सामने आया है, जिसमें राहगीर घायल नाबालिग का वीडियो रिकॉर्ड कर रहे हैं.

वीडियो में एक पुलिसकर्मी लड़की को अस्पताल ले जाने के लिए एक ऑटो-रिक्शा में ले जाता हुआ दिखाई दे रहा था. पुलिस अधीक्षक कुंवर अनुपम सिंह ने बताया, “लड़की रविवार को गुल्लक खरीदने के लिए घर से निकली थी. मगर, वह जब काफी देर होने के बाद भी घर नहीं लौटी, तो उसके परिजनों ने उसकी तलाश शुरू की.”

गेस्ट हाउस के गार्ड ने दी पुलिस को सूचना

उन्होंने कहा, “गेस्ट हाउस के गार्ड ने बच्ची को खून से लथपथ और दर्द से कराहते देखा, तो पुलिस को सूचना दी. पुलिस चौकी प्रभारी मनोज पांडेय तत्काल मौके पर पहुंचे और नाबालिग को अस्पताल ले गए. बाद में लड़की को इलाज के लिए कानपुर रेफर कर दिया गया. उन्होंने बताया कि गेस्ट हाउस में लगे एक कैमरे से सीसीटीवी फुटेज निकाली गई है. इसमें नाबालिग से एक युवक बात करते नजर आ रहा है.”

सीसीटीवी में बच्ची के साथ दिखे युवक का लगा रहे हैं पता

एसपी ने कहा, “ऐसा प्रतीत होता है कि नाबालिग के साथ एक युवक भी था. मगर, बच्ची के साथ बलात्कार की पुष्टि नहीं हो सकी है क्योंकि अभी तक मेडिकल रिपोर्ट नहीं आई है. युवक की पहचान की जा रही है. मेडिकल रिपोर्ट आने के बाद ही यह कहा जा सकता है कि लड़की के साथ रेप हुआ या नहीं. उन्होंने बताया कि मामले में विस्तृत जांच की जा रही है.

रीजेंसी में हो रहा है बच्ची का इलाज

कन्नौज प्रशासन ने बच्ची को इलाज के लिए कानपुर के हैलट हॉस्पिटल भर्ती किया गया था. मगर, वहां बच्ची की गंभीर हालत होने पर उसको कानपुर के सबसे बड़े प्राइवेट हॉस्पिटल रीजेंसी में भर्ती कराया गया है. बच्ची को आईसीयू में रखा गया है, जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है.

परिजनों का कहना है बच्ची के साथ रेप का प्रयास हुआ था. उसके बाद उसको बुरी तरह घायल करके सड़क पर फेंक दिया गया. यहां बच्ची की हालत गंभीर बनी हुई है. उसका सही ढंग से इलाज नहीं हुआ था, इसलिए हम इसको रीजेंसी में लाए थे. मगर, यहां हमको बच्चे के इलाज के लिए पैसे की काफी परेशानी हो रही है.

परिजनों को इलाज के लिए मांगना पड़ रहा है चंदा

हम इलाज में अब तक 40,000 रुपए जमा कर चुके हैं. बाकी पैसा चंदा करके भेज दे रहे हैं. मगर, प्रशासन को मेरी सहायता करनी चाहिए. बच्ची के साथ जिसने भी गलत करने की कोशिश की पुलिस उसे गिरफ्तार करे. रीजेंसी हॉस्पिटल प्रशासन प्रशासन का कहना है बच्ची की हालत सीरियस है. आईसीयू में भर्ती की गई है डॉक्टरों का पूरा पैनल उसका इलाज करने में लगा है. बच्ची की हालत के बारे में अभी कुछ हम कहने की स्थिति में नहीं हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here