इंग्लैंड की ‘दादागिरी’ खत्म, भारत तोड़ेगा तीसरी बार वाला ख्वाब!

645

हिला वर्ल्ड कप में भारत ने इंग्लैंड की दादागिरी को खत्म करने की तैयारी कर ली है. रविवार को भारत की बेटियां इंग्लैंड का तीसरी बार वाला ख्वाब तोड़ेंगी. महिला वर्ल्ड कप के इतिहास में सबसे सफल टीम भले ही ऑस्ट्रेलिया है, मगर इंग्लैंड की टीम ने पहली ही बार में बाजी मारकर इतिहास के पन्नों में सबसे पहले अपना नाम दर्ज करवा लिया था.

अब उसकी कोशिश पहली बार हो रहे अंडर 19 महिला टी20 वर्ल्ड कप में भी 1973 और 2009 की तरह कमाल करने की है, मगर इस बार उसके सामने भारत है, जो तीसरी बार उसे बाजी मारने नहीं देगा.

ऑस्ट्रेलिया ने महिला वनडे वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा 7 और टी20 वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा 5 बार खिताब जीता. हालांकि अंडर 19 टी20 वर्ल्ड कप में ऑस्ट्रेलिया की टीम सेमीफाइनल से ही बाहर हो गई. ऑस्ट्रेलिया को हराकर इंग्लैंड ने फाइनल में एंट्री की और इसी के साथ उसे इस वर्ल्ड कप का भी पहला चैंपियन बनने का मौका मिल गया.

2 वर्ल्ड कप की पहली चैंपियन

1973 में महिला वनडे कप की शुरुआत हुई थी और इंग्लिश टीम इस वर्ल्ड कप की पहली चैंपियन बनी थी. फाइनल में इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया को हराकर ही खिताब जीता. हालांकि इसके बाद ऑस्ट्रेलिया ने अपना दबदबा बनाया. वहीं इंग्लैंड ने 4 बार खिताब जीता. 2009 में पहली बार महिला टी20 वर्ल्ड कप का आयोजन किया गया और इस वर्ल्ड कप की भी पहली चैंपियन इंग्लिश टीम ही बनी. फाइनल में उसने न्यूजीलैंड को हराया था.

भारत की नजर पहले खिताब पर

अब पहली बार अंडर 19 महिला टी20 वर्ल्ड कप खेला जा रहा है और एक बार फिर पहले ही टूर्नामेंट में इंग्लैंड की टीम फाइनल में पहुंच गई है. अब ये देखना काफी दिलचस्प होगा कि क्या इंग्लैंड की टीम इस महिला वर्ल्ड कप की भी पहली चैंपियन बन पाती है या फिर भारतीय टीम इतिहास का पहला महिला वर्ल्ड कप जीतने में सफल होती है. भारत न्यूजीलैंड को हराकर फाइनल में पहुंचा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here