महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर जारी है ‘महासंग्राम

458

मुंबई, एजेंसी। महाराष्ट्र में नई साझा सरकार के गठन को लेकर राकांपा प्रमुख शरद पवार दिल्ली में अब सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलेंगे। संभावना है कि इसमें शिवसेना के साथ राज्य में साझा सरकार पर मंथन व अंतिम फैसला लिया जाएगा। कांग्रेस व राकांपा सरकार बनाने के लिए शिवसेना के साथ न्यूनतम साझा कार्यक्रम (सीएमपी) पहले ही तैयार कर चुकी है। इस बीच, शिवसेना ने 18 नवंबर से शुरू हो रहे संसद सत्र से पहले रविवार को दिल्ली में बुलाई गई राजग की बैठक में भाग नहीं लेने का फैसला किया है।

कांग्रेस व राकांपा सूत्रों ने बताया कि सीएमपी के मसौदा व तीनों दलों के बीच विभागों के बंटवारे पर भी पवार और सोनिया विचार करेंगे। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री पद पर तकरार के कारण भाजपा-शिवसेना गठबंधन टूटने और किसी दल की सरकार नहीं बन पाने के कारण महाराष्ट्र में 12 नवंबर को राष्ट्रपति शासन लगा दिया गया। उसके बाद से शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस नई सरकार बनाने की कोशिशों में लगातार जुटे हुए हैं।

राकांपा चाहती है सरकार में शामिल हो कांग्रेस

राकांपा के एक सूत्र ने बताया कि पार्टी चाहती है कि कांग्रेस भी सरकार में शामिल हो, ताकि वह टिकाऊ रह सके जबकि सबसे पुरानी पार्टी बाहर से समर्थन देना चाहती है।

राजग से तलाक अब सिर्फ औपचारिकता : राउत

शिवसेना नेता संजय राउत ने शनिवार को कहा कि शिवसेना रविवार को दिल्ली में होने वाली राजग की बैठक में उसके घटक के रूप में शामिल नहीं होगी। पत्रकारों से चर्चा में उन्होंने कहा कि उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली पार्टी का अब राजग से बाहर निकलना सिर्फ औपचारिकता रह गया है। राउत ने तंज करते हुए कहा कि राजग किसी की प्रॉपर्टी नहीं है। शिवसेना व अकाली दल इसके समान रूप से महत्वपूर्ण घटक थे।

‘नया मौसम आ रहा, पुराने दर्द भूलो’

राउत ने शनिवार को प्रख्यात शायर बशीर बद्र का शेर- यारों नए मौसम ने ये अहसान किया है, याद मुझे दर्द पुराने नहीं आते’ टवीट किया। हालांकि उन्होंने किसी दल का नाम नहीं लिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here