अटल बिहारी वाजपेयी पुण्यतिथि : जब दहेज़ में मांग लिया पूरा पाकिस्तान

193

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की आज चौथी पुण्यतिथि है। आज पूरा देश उन्हें याद कर रहा है, वह जननेता के साथ साथ एक लोकप्रिय कवि और प्रखर वक्ता भी थे। अपनी कुशल संवाद शैली से वह अपने विरोधियों को भी मुरीद बना लेते थे। हाजिर जवाबी में भी उनका कोई मुकाबला नहीं था। उनकी हाजिर जवाबी का ऐसा ही एक किस्सा बहुत मशहूर है।

यह वाक्या 1999 का है, प्रधानमंत्री की कुर्सी पर बैठने के बाद अटल बिहारी वाजपेयी ने पाकिस्तान के साथ रिश्तों को मधुर बनाने के लिए अमृतसर से लाहौर के बीच बस सेवा शुरू की थी। वह खुद बस से पाकिस्तान पहुंचे, जहां अटल बिहारी वाजपेयी का जोरदार स्वागत हुआ। स्वागत के बाद मीडिया के साथ एक संवाद रखा गया। यहां एक महिला पत्रकार ने अटल बिहारी वाजपेयी से पूछा कि आपने अभी तक शादी क्यों नहीं की, मैं आपसे शादी करना चाहती हूं लेकिन मुंह दिखाई के तौर पर मुझे कश्मीर चाहिए। पत्रकार के इस सवाल से पूरे कांफ्रेंस हॉल में सन्नाटा पसर गया। अगले ही पल पूर्व प्रधानमंत्री ने हंसकर इसका जवाब दिया। उन्होंने कहा कि मैं शादी के लिए तैयार हूं लेकिन मेरी एक शर्त है, दहेज के रूप में पूरा पाकिस्तान चाहिए। उनका यह जवाब सुन पूरा हॉल ठहाकों से गूंज उठा, खुद अटल बिहारी वाजपेयी और महिला पत्रकार भी मुस्कुराने लगे थे।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि साल 2018 में आज ही के दिन (16 अगस्त) दिल्ली के अखिल एम्स में वाजपेयी का लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया था। वाजपेयी को 2015 में भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here