छात्रों के भारी विरोध के बाद JNU प्रशासन ने फीस बढ़ोतरी का फैसला वापस लिया

444

नई दिल्ली। जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) में फीस वृद्धि का फैसला वापस ले लिया गया है. फीस वृद्धि के खिलाफ जेएनयू के छात्र कई दिनों से प्रदर्शन कर रहे हैं. जिसके बाद आज शिक्षा मंत्रालय ने कहा है कि फीस वृद्धि का फैसला वापस ले लिया गया है. शिक्षा मंत्रालय के सचिव ने ट्वीट कर कहा, ”जेएनयू कार्यकारी समिति ने हॉस्टल शुल्क वढ़ोतरी का फैसला वापस ले लिया है. साथ ही ईडब्ल्यूएस छात्रों को आर्थिक सहायता के लिए एक योजना प्रस्तावित किया गया है. कक्षाओं में वापस आने का समय है.

जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी के छात्रों ने छात्रावास शुल्क में वृद्धि वापस लेने की अपनी मांग को लेकर आज अपना विरोध- प्रदर्शन तेज कर दिया. इस वजह से विश्वविद्यालय प्रशासन को कार्यकारिणी परिषद की बैठक परिसर से बाहर आयोजित करनी पड़ी. इसी बैठक में आज फीस बढ़ोतरी का फैसला वापस लेना पड़ा. परिषद जेएनयू की फैसला लेने वाली सर्वोच्च संस्था है.

वाम दल समर्थित छात्र संगठनों के विद्यार्थी छात्रावास शुल्क में वृद्धि के खिलाफ करीब पखवाड़े भर से प्रदर्शन कर रहे थे. जिसके बाद आज आरएसएस की छात्र शाखा एबीवीपी के प्रतिनिधियों ने भी इस तरह की मांगों को लेकर विश्वविद्यालय अनुदान आयोग तक मार्च करने की योजना बनाई.

छात्र संगठनों का दावा है कि छात्रावास नियमावली मसौदा में छात्रावास शुल्क वृद्धि और ड्रेस कोड आदि के प्रावधान हैं, जिसे इंटर-हॉल प्रशासन ने मंजूरी दी है. प्रदर्शनकारी छात्रों ने बुधवार को प्रशासन खंड के बाहर जेएनयू प्रशासन और कुलपति के खिलाफ नारेबाजी की.

बता दें कि नए हॉस्टल ड्राफ्ट मैनुअल में कई पाबंदियां और तमाम मदों में फीस बढ़ोत्तरियां की गई हैं. इस मुद्दे पर सोमवार को भी विद्यार्थियों ने जमकर बवाल काटा. छात्रों के गुस्से के मद्देनजर विवि के चारों ओर केंद्रीय सुरक्षा बल और दिल्ली पुलिस के जवानों को तैनात कर इलाके को छावनी में तब्दील कर दिया गया है. इस नए हॉस्टल ड्राफ्ट मैनुअल के मुताबिक, “मैस, बिजली बिल, साफ-सफाई यानी सैनीटेशन की फीस बढ़ा दी जाएगी” इतना ही नहीं इस मैनुअल के अनुसार अब रात 10 से 10.30 बजे के बीच विद्यार्थियों की उपस्थिति अनिवार्य होगी.

रात के वक्त कोई भी विद्यार्थी एक-दूसरे के कमरे में नहीं जाएगा. अगर ऐसा करना है यानी पार्टनर शेयरिंग सिस्टम जो विद्यार्थी अमल में लाएंगे, उन्हें ज्यादा फीस भरनी पड़ेगी. यह बढ़ी हुई फीस 20 रुपये से 300 रुपये कर दी गई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here