एडवेंचर के नाम पर मासूम के जीवन से खिलवाड़, कर्तिषा आईसीयू में भर्ती

586

मामला रेडियंट-वे स्कूल प्रबंधन की लापरवाही का
खतरे की जद में आने वाले खेलों के लिए कलेक्टर की अनुमति जरूरी
रायपुर।
निजी स्कूल प्रबंधनों द्वारा आए दिन विद्यार्थियों को कोई न कोई कारण बताकर अपने पालकों से होने वाले आयोजनों के लिए शुल्क वसूली की जाती है किंतु मामला जब सुरक्षा का आता है तब स्कूल प्रबंधन अपने कर्तव्यों के निर्वहन में फिसड्डी साबित होता है। इसी कड़ी में रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय परिसर स्थित रेडियंट-वे स्कूल में मंगलवार को खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया था। पालकों को प्रतिभागियों को स्कूल में शाम को रोकने की जानकारी देकर बच्चों को बुलवाया गया था। ज्ञातव्य है कि इन दिनों खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन स्कूलों में जारी है।

स्कूल प्रबंधन द्वारा एडवेंचर्स गेम के दौरान सुरक्षागत स्थितियों को ताक मेंं रखकर प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसके चलते कक्षा चौथी में अध्ययनरत छात्रा कतिर्षा त्रिवेदी पिता डॉ. सौमित्र त्रिवेदी 25 फूट की ऊंचाई से प्रदर्शन के दौरान बेल्ट का क्लिप खुलने से धरती पर गिरी जिसके चलते जिसके चलते गंभीर चोटे आईं। बच्ची बेहोश हो गई तत्काल बच्ची की मां ने एम्स हास्पिटल पहुंचकर बच्ची को आईसीयू में भर्ती कराया। उक्त घटना में जानकारों के मुताबिक खुली लापरवाही बरती गई है। नीचे जाली भी नहीं बिछाई गई थी जिसके चलते बच्ची को गंभीर चोटों का सामना करना पड़ा था। उक्त घटना के मद्देनजर पालकों में गहन आक्रोश है।

कलेक्टर भारती दासन ने स्कूल प्रबंधन के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के आदेश पुलिस प्रशासन को दिए हैं साथ ही जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देशित करते हुए कड़ी कार्यवाही करने कहा है। स्कूल प्रबंधन द्वारा उक्त खतरे की जद में आने वाले खेल एडवेंचर गेम के लिए जिला कलेक्टर से अनुमति नहीं ली गई थी। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार खतरे की जद में आने वाले खेलों के लिए कलेक्टर की अनुमति जरूरी है। स्कूल प्रबंधन द्वारा खेल के नाम पर एक रात रोका जाना भी विद्यार्थियों के हितों के विरूद्ध है। आरटीआई कार्यकर्ता डॉ. योगेशचन्द्र मिश्रा ने सोशल मीडिया पर स्कूल प्रबंधन के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करने के निर्देश प्रशासनिक जिम्मेदारों के संबंध में लिखे हैं। साथ ही उन्होंने रेडियंट – वे स्कूल द्वारा खेलों के दौरान बरती गई लापरवाही को आपराधिक कृत्य करार देते हुए मासूम की जिंदगी से खिलवाड़ कर उसके जीवन को खतरे में डालने वाले व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज करते हुए डीजीपी से तत्काल कार्यवाही की मांग की है। नागेश बंछोर ने उक्त घटनाक्रम पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए इसके लिए शिक्षा विभाग के जिम्मेदारों को जिम्मेदार मानते हुए निजी स्कूलों द्वारा की जा रही मनमानी पर तत्काल रोक लगाने की मांग मुख्यमंत्री से की है।


अभी-अभी मिली जानकारी के अनुसार कर्तिषा त्रिवेदी के माता-पिता एवं पालकों द्वारा कलेक्टर, एसपी, एएसपी को ज्ञापन सौंपकर स्कूल प्रबंधन के खिलाफ आपरााधिक मुकदमा दर्ज कर ज्ञापन सौंपकर कार्यवाही करने की मांग की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here