इको फ्रेंडली ही नहीं इंप्रेशन जमाने का भी बढ़िया तरीका है Digital Visiting Card

468

Digital Visiting Card: डिजिटल या इलेक्ट्रॉनिक बिजनेस कार्ड (e-Business Card) दो तरह के होते हैं-क्यूआर कोड विजिटिंग कार्ड (QR Code Visiting Card) और नीयर फील्ड कम्यूनिकेशन कार्ड (NFC Business Card).

How To Make Digital Business Card: पैनडेमिक की वजह से ऑनलाइन मोड में काम करने की आदि हो चुकी इस पीढ़ी को अब हर कुछ डिजिटल चाहिए, फिर चाहें शॉपिंग हो या नौकरी, या फिर पढ़ायी. अब तो दूर दराज के रिश्तेदार शादी-ब्याह से लेकर अंत्येष्टि तक में ऑनलाइन जुड़ कर अपना फर्ज निभा ले रहे हैं. ऐसे में नेटवर्किंग का आपका तरीका पुराना क्यों हो भला!

डिजिटल बिजनेस कार्ड

डिजिटल बिजनेस कार्य या डिजिटल विजिटिंग कार्ड आपके मौजूदा विजिटिंग कार्ड का सॉफ्ट वर्जन होता है. इसे आप इंटरनेट के माध्यम से किसी से भी शेयर कर सकते हैं. डिजिटल बिजनेस कार्ड में आपका नाम, पता, कंपनी का नाम, कॉन्टैक्ट, सोशल मीडिया एकाउंट, वेबसाइट, फोटो आदि जानकारियां होती हैं.

डिजिटल बिजनेस कार्ड के फायदे

जानकारी सुरक्षित रखना है आसान: पेपर वाले विजिटिंग कार्ड को संभाल कर रखनामुश्किल होता है. इनके गुम हो जाने या फट जाने की गुंजाइश बनी रहती है. लेकिन डिजिटल विजिटिंग कार्ड के साथ ऐसा कुछ नहीं होता. इसकी जानकारी को सेव करना बहुत आसान होता है.

लोगों के कॉन्टैक्ट में जगह बनाना है आसान: कागज के विजिटिंग कार्ड में मौजूद जानकारियों को मैनुअली फोन के कॉन्टैक्ट में शेयर करना पड़ता है. लेकिन ई-कार्ड की जानकारियों को बस एक क्यूआर कोड स्कैन करते ही सीधे अपने फोन में सेव किया जा सकता है.

कार्ड की जानकारियों को अपडेट करना है आसान: अगर आपने अपनी कंपनी का पता या फोन नंबर बदल दिया तो ई-कार्ड में इन जानकारियों को फौरन बदल सकते हैं. लेकिन पेपर विजिटिंग कार्ड में बदलाव करना मुमकिन नहीं. आपको दोबारा नए कार्ड प्रिंट कराने पड़ेंगे जिससे समय और पैसे दोनों की बर्बादी तय है.

फर्स्ट पार्टी डाटा की जानकारी: आप क्यूआर कोड एनालिटिक्स (QR Code Analytics) की मदद से यह पता लगा सकते हैं कि आपके इ-कार्ड को लेने वाले कितने लोगों ने असल में आपके कार्ड को स्कैन कर अपने कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव किया. लेकिन पेपर वाले विजिंट कार्ड को लेने वाले कितने लोगों ने आपका नाम और नंबर अपने फोन में सेव किया, यह आप नहीं जान पाएंगे.

पॉकेट और इको फ्रेंडली: इंटरनेट पर कई वेबसाइट ऐसे हैं जिनके माध्यम से दमदार इ-बिजनेस कार्ड बना सकते हैं वह भी बिलकुल मुफ्त. इस कार्ड में बार-बार बदलाव भी कर सकते हैं. लेकिन कागज वाले विजिटिंग कार्ड पर्यावरण पर बोझ तो होते ही है, उन्हें छपवाने और उनमें बदलाव कराने पर भी ढेरों पैसे खर्च होते हैं.

इंटरनेट पर कई वेबसाइट्स हैं जिनके माध्यम से आप मुफ्त में अपना डिजिटल विजिटिंग कार्ड बनवा सकते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here