मानस नेशनल पार्क : 500 वर्ग किलोमीटर में फैली इस प्राकृतिक सुंदरता का लुत्फ़ उठाइये

19

अगर आपको राष्ट्रीय उद्यान देखने का शौक है,वहां जाकर पशु-पक्षियों और वनस्पतियों के बारे में जानने की जिज्ञासा है,तो इस बार आप मानस राष्ट्रीय उद्यान की सैर कर सकते हैं। यह खूबसूरत राष्ट्रीय उद्यान असम राज्य में स्थित है और यहां देश के कोने-कोने से सैलानी आते हैं। यह नेशनल पार्क असम राज्य के प्रमुख टूरिस्ट डेस्टिनेशंस में शामिल है।

इस राष्ट्रीय उद्यान को यूनेस्को ने विश्व धरोहर स्थल घोषित किया हुआ है। मानस नेशनल पार्क को 1990 में एक राष्ट्रीय उद्यान के रूप में घोषित किया गया था। यह पार्क दुर्लभ और लुप्तप्राय वन्यजीवों का घर है। यहां सैलानियों को कई तरह के जीव-जंतु देखने को मिलेंगे। यह राष्ट्रीय उद्यान 500 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है। इस राष्ट्रीय उद्यान की सैर कर टूरिस्ट कई प्रजाति के जानवरों को देख सकते हैं। इस पार्क में फैले हुए विस्तृत घासी के मैदान टूरिस्टों का मन मोह लेंगे। टूरिस्ट इस नेशनल पार्क में जंगली भैंस से लेकर हाथी, दुर्लभ गोल्डन लंगूर और लाल पांडा देख सकते हैं।

मानस नदी पांच अन्य नदियों के साथ इस पार्क से होकर बहती है। इस पार्क में जाने के लिए सैलानियों को टिकट लेना पड़ता है। बिना परमिट के सैलानी इस राष्ट्रीय उद्यान की सैर नहीं कर पाएंगे। इस राष्ट्रीय उद्यान में टूरिस्ट जीप सफारी का आनंद ले सकते हैं। यहां घूमने का सबसे अच्छा समय अप्रैल से लेकर नवंबर तक होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here