अमरनाथ यात्रा के लिए पहला जत्था रवाना, महबूबा मुफ्ती बोली- यात्रियों को कश्मीरी लोग देते हैं ‘सुरक्षा का असली भाव’

48

Short Description

अमरनाथ यात्रा के लिए पहला जत्था रवाना, महबूबा मुफ्ती बोली- यात्रियों को कश्मीरी लोग देते हैं ‘सुरक्षा का असली भाव’

News Detail

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने बुधवार को कहा कि कड़े सुरक्षा उपायों के बावजूद, कश्मीर के लोग हैं जो अमरनाथ यात्रा के श्रद्धालुओं को “असली सुरक्षा का भाव” देते हैं। कोविड-19 महामारी के कारण दो साल के अंतराल के बाद वार्षिक अमरनाथ यात्रा बृहस्पतिवार से शुरू हो रही है।

महबूबा ने ट्वीट किया, “दो साल बाद इस साल अमरनाथ यात्रा पुनः शुरू हुई है और मैं आश्वस्त हूं कि कश्मीरी लोग गर्मजोशी से इसका स्वागत करेंगे। यात्रा के मार्ग पर दुकानें बंद करने और सुरक्षा के अन्य कदम के बावजूद, ये हम कश्मीरी लोग हैं जो यात्रियों को सुरक्षा का असली भाव देते हैं।” पीडीपी अध्यक्ष का बयान ऐसे समय आया है जब शहर के पठानचौक इलाके के कुछ दुकानदारों ने यह दावा करते हुए विरोध प्रदर्शन किया कि अमरनाथ यात्रा के दौरान उन्हें दुकान बंद करने का निर्देश दिया गया था।

उपराज्यपाल सिन्हा ने जम्मू से अमरनाथ तीर्थयात्रियों के पहले जत्थे को रवाना किया
जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने बुधवार सुबह जम्मू शहर के भगवती नगर आधार शिविर से वार्षिक अमरनाथ यात्रा के लिए तीर्थयात्रियों के पहले जत्थे को कश्मीर के पहलगाम और बालटाल आधार शिविरों की यात्रा के लिए रवाना किया। पवित्र गुफा में बाबा बर्फानी के दर्शन के लिये 43 दिवसीय तीर्थयात्रा बृहस्पतिवार को कश्मीर के दोनों आधार शिविरों से शुरू होगी और 11 अगस्त को रक्षा बंधन के अवसर पर इसका समापन होगा। कोविड-19 वैश्विक महामारी के कारण दो साल के अंतराल के बाद वार्षिक अमरनाथ यात्रा का आयोजन किया जा रहा है। ‘बम बम भोले’ और ‘जय बर्फानी बाबा की’ के नारे लगाते हुए तीर्थयात्री कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच वाहनों में भगवती नगर आधार शिविर से रवाना हुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here