झारखंड : शिक्षक बनने का अवसर, 3119 पदों पर निकलेगी वैकेंसी, इन विषयों में सबसे अधिक सीट

82

रांची: झारखंड में चार साल बाद फिर शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया शुरू होगी. स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग ने तैयारी शुरू कर दी है. राज्य के 510 प्लस टू विद्यालयों में 3119 शिक्षकों की नियुक्ति होगी. विभागीय स्तर पर रोस्टर क्लियर कर लिया गया है और प्रस्ताव कार्मिक विभाग को भेजा गया है.

कार्मिक से रोस्टर क्लियर होने के बाद अधियाचना झारखंड कर्मचारी चयन आयोग को भेजी जायेगी. परीक्षा प्रक्रिया में वही अभ्यर्थी शामिल हो सकेंगे, जो झारखंड से मैट्रिक और इंटर की परीक्षा में पास होंगे. आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों के लिए यह प्रावधान शिथिल है.

नियुक्ति परीक्षा 400 अंकों की होगी. पत्र एक में सौ अंक की सामान्य ज्ञान व हिंदी की परीक्षा होगी, जबकि दूसरे पत्र में संबंधित विषय की 300 अंकों की परीक्षा होगी. प्रश्न पत्र एक क्वालीफाइंग होगा. मेरिट लिस्ट तैयार करने के लिए प्रथम पत्र का अंक नहीं जोड़ा जायेगा.

प्रथम पत्र में 33 फीसदी अंक लाना अनिवार्य होगा. प्रथम पत्र में 33 फीसदी अंक नहीं लाने पर द्वितीय पत्र की जांच नहीं होगी. द्वितीय पत्र में न्यूनतम 50 फीसदी अंक लाना अनिवार्य होगा. एससी-एसटी वर्ग के अभ्यर्थियों को अंक में पांच प्रतिशत की छूट दी गयी है.

नियुक्ति प्रक्रिया में शामिल होने के लिए न्यूनतम उम्र 21 व अधिकतम 40 वर्ष निर्धारित की गयी है. महिला के लिए 43, पिछड़ा वर्ग के लिए 42 और एससी-एसटी वर्ग के अभ्यर्थियों के लिए उम्र सीमा 45 वर्ष निर्धारित की गयी है. विकलांग अभ्यर्थियों को उम्र सीमा में पांच की छूट दी गयी है. जिस वर्ष नियुक्ति के लिए विज्ञापन जारी होगा, उस वर्ष एक जनवरी से उम्र की गणना की जायेगी.

शिक्षकों के सबसे अधिक पद गणित व विज्ञान विषयों में रिक्त हैं. गणित के साथ-साथ भौतिकी और रसायन में शिक्षकों के सबसे अधिक पद रिक्त हैं. राज्य गठन के बाद प्लस टू विद्यालयों में शिक्षकों की पहली नियुक्ति वर्ष 2012 में हुई थी. पिछली नियुक्ति के लिए वर्ष 2018 में आवेदन आमंत्रित किये गये थे. अब तक प्लस टू विद्यालयों में 50 फीसदी सीटों पर सीधी नियुक्ति होती थी, लेकिन अब 75 फीसदी सीटों पर सीधी नियुक्ति होगी. प्लस टू स्कूल में हाइस्कूल शिक्षकों के लिए आरक्षित सीट 50 फीसदी से घटाकर 25 फीसदी कर दी गयी है.

हाइस्कूल में शिक्षकों की नियुक्ति की तैयारी शुरू कर दी गयी है. सभी जिलों को आरक्षण रोस्टर क्लियर करने के लिए कहा गया है. आधा दर्जन से अधिक जिलों से रोस्टर क्लियर कर लिया गया है. शेष जिलों को भी रोस्टर जल्द क्लियर करने के लिए कहा गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here