बिहार : जेल विभाग के AIG रूपक कुमार के घर विजिलेंस का छापा, दफ्तर से लेकर घर तक में मिली अकूत संपत्ति

146

पटना. बिहार में भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ छापेमारी अभियान जारी है. आर्थिक अपराध शाखा और निगरानी ब्यूरो लगतार भ्रष्ट कर्मचारियों और अपराधियों के ठिकानों पर छापेमारी कर रही है. इसी क्रम में सोमवार को राजधानी पटना में स्पेशल विजिलेंस यूनिट यानी निगरानी विभाग की विशेष इकाई ने जेल विभाग में तैनात एआईजी रूपक कुमार के ठिकानों पर छापेमारी की है.

आय से अधिक संपत्ति का मामला

आय से अधिक संपत्ति मामले में रूपक कुमार के खिलाफ स्पेशल विजिलेंस यूनिट ने निगरानी थाने में केस दर्ज किया है. शिकायत दर्ज होते ही ब्यूरो की टीम उनकी संपत्ति को खंगालने में जुट गयी है. एडिशनल एसपी के नेतृत्व में स्पेशल यूनिट की टीमें उनके कार्यालय और आशियाना इलाके में स्थित आलीशान मकान पर एक साथ छापेमारी कर रही है.

उत्तर से दक्षिण भारत तक में फैली है संपत्ति

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार स्पेशल विजिलेंस यूनिट के अधिकारियों से पता चला है कि कि दीपक कुमार ने अपनी अवैध कमाई के माध्यम से भारी मात्र मात्रा में संपत्ति अर्जित की है. पटना के अलावा उनकी संपत्ति नोएडा, रांची समेत दक्षिण भारत के राज्य में भी है. उनके खिलाफ स्पेशल विजिलेंस यूनिट थाने में जो केस दर्ज किया गया है, उसमें राज्य के बाहर संपत्ति होने का उल्लेख किया गया है. इसके अलावा बड़ी मात्रा में जेवरात और अन्य निवेश के कागजात मिले हैं.

स्पेशल विजिलेंस यूनिट की चौथी बड़ी कार्रवाई

फिलहाल छापेमारी के दौरान भारी मात्रा में कैश और जमीन जायदाद से संबंधित कागजात के आकलन का काम चल रहा हैं. अब तक पूरी संपत्ति का आकलन नहीं हो पाया है, लेकिन माना जा रहा है कि यह आय से कहीं अधिक की संपत्ति हो सकती है. वैसे छापेमारी खत्म होने के बाद यह पता लगेगा कि रूपक कुमार ने आखिरकार आय से अत्यधिक कितनी संपत्ति अर्जित की है. भ्रष्टाचार के बल पर धनकुबेर अफसरों के खिलाफ स्पेशल विजिलेंस यूनिट की 2022 में यह चौथी कार्रवाई है. विभिन्न एजेंसियों की लगातार हो रही कार्रवाई से भ्रष्ट और घूसखोर अफसरों में हड़कंप मचा हुआ है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here