गुजरातः मंदिर में हुई रोजेदारों की इफ्तार पार्टी

49

राकेश चौरासिया / दलवाना

गुजरात के दलवाना जिले में स्थित वरंदा वीर महाराज मंदिर ने शुक्रवार को मुसलमानों के लिए मगरिब नमाज अदा करने और रमजान के महीने के दौरान उपवास तोड़ने के लिए अपने दरवाजे खोल दिए.

इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के अनुसार, बनासकांठा गांव के लगभग 100 मुस्लिम निवासियों को 1,200 साल पुराने मंदिर में आमंत्रित किया गया, जो दलवाना के लोगों के लिए महान सामाजिक और धार्मिक महत्व रखता है.

मंदिर के पुजारी पंकज ठाकर ने कहा, ”मंदिर इतिहास में पहली बार मुसलमानों के लिए खुला है.”

ठाकर ने आगे कहा, ”इस साल, मंदिर ट्रस्ट और ग्राम पंचायत ने उपवास करने वाले मुसलमानों (रोजदारों) को अपना उपवास तोड़ने के लिए आमंत्रित करने का फैसला किया. हमने अपने गांव के 100 से अधिक मुस्लिम रोजेदारों के लिए पांच से छह प्रकार के फल, खजूर और शरबत की व्यवस्था की है. मैंने आज अपनी स्थानीय मस्जिद के मौलाना का व्यक्तिगत रूप से स्वागत किया.”

इफ्तार में शामिल हुए लोगों ने शाम के लिए की गई व्यवस्था के लिए मंदिर प्रबंधन का आभार व्यक्त किया.

2011 की जनगणना के अनुसार, दलवाना में 2,500 लोग निवास करते हैं, जिसमें राजपूत, पटेल, प्रजापति, देवीपूजक समुदायों का वर्चस्व है. जिले में लगभग 50 मुस्लिम परिवार हैं, जो बड़े पैमाने पर खेती और व्यवसाय में लगे हुए हैं.

Awaz The Voice Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here