राज्यपाल-मुख्यमंत्री में तकरार का मसला उछालने वाले गुजरात का इतिहास न भूलें : कुणाल घोष

34

राज्य ब्यूरो, कोलकाता : बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ व मुख्यमंत्री ममता बनर्जी में चल रही तकरार को लेकर तृणमूल कांग्रेस के प्रवक्ता कुणाल घोष ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि इस प्रकरण को उछालने वालों को यह नहीं भूलना चाहिए कि गुजरात के मुख्यमंत्री रहते नरेन्द्र मोदी ने वहां की तत्कालीन राज्यपाल कमला बेनीवाल के साथ क्या किया था।

 

घोष ने कहा कि उस वक्त गुजरात में मोदी-बेनीवाल में टकराव चरम पर पहुंच गया था। भाजपा ने बेनीवाल पर कांग्रेस के पक्ष में काम करने का आरोप लगाया था। इसके बाद उन्हें हटवा दिया था इसलिए इस मसले को उछालने वालों को गुजरात का इतिहास याद रखना चाहिए।

गौरतलब है कि ममता ने सोमवार को धनखड़ को ट्विटर पर ब्लाक कर दिया था। उन्होंने खुद इसकी जानकारी मीडिया को देते हुए कहा था कि राज्यपाल प्रत्येक दिन ऐसे ट्वीट करते रहते हैं, जो परेशान करती हैं। असंवैधानिक बातें की जाती हैं।

उन्हें और उनके अधिकारियों के बारे में अपशब्द कहे जाते हैं इसलिए ऐसा करने के लिए उन्हें बाध्य होना पड़ा।

गौरतलब है कि राज्यपाल रोजाना ममता सरकार पर निशाना साधते रहते हैं। वे बंगाल में कानून व्यवस्था की स्थिति पर सवाल उठाते आए हैं। उन्होंने कई दफा कहा है कि बंगाल में कानून-व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं है। चारों तरफ अराजकता का माहौल है और सत्तारूढ़ पार्टी का कानून चलता है। लोग अपने मताधिकार के अधिकार से वंचित हैं। बंगाल में लोकतंत्र दम तोड़ रहा है। राज्यपाल इसे लेकर दिल्ली जाकर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से शिकायत भी कर चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here