बिहार : प्रेमी ने प्रेमिका के पति की हत्या की, सुंदरता पर दिल गया था हार, इस तरह आया करीब

42

आरा: भोजपुर पुलिस  ने पांच फरवरी को मुफ्फसिल थाना क्षेत्र के धुधुआं गांव में हुए हत्याकांड का खुलासा करते हुए कांड के मुख्य आरोपी प्रेमी-प्रेमिका को गिरफ्तार कर लिया है.

गिरफ्तार आरोपियों में मृतक अरुण कुमार की पत्नी अंजू देवी और प्रेमी धुधुआं गांव निवासी विजय यादव के पुत्र रंजीत यादव उर्फ तांत्रिक उर्फ साधु जी है.

खबर में खास

  • 5 फरवरी को गले मे रस्सी लगा मिला था शव
  • यह हत्या अवैध संबंध में किया गया
  • बैठ कर गर्दन में रस्सी लगाकर खींच दिया
  • बसंत पंचमी के दिन हत्या की प्लानिंग की
  • दैविक प्रकोप का बहाना से आया नजदीक

5 फरवरी को गले मे रस्सी लगा मिला था शव

धुधुआं गांव के बधार स्तिथ बेर के पेड़ के नीचे से फांसी लगा धुधुआं गांव निवासी श्रीराम के पुत्र अरुण कुमार का शव बरामद हुआ था. प्रथम दृष्टया आत्महत्या से जोड़कर देखी जा रही थी, लेकिन परिजन फांसी लगाकर हत्या कर शव फेके जाने का आरोप लगाया था. मृतक के बड़े भाई गणेश कुमार ने थाना में अज्ञात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई. पुलिस अधीक्षक विनय तिवारी के निर्देश के बाद एएसपी हिमांशु के नेतृत्व में विशेष टीम और डीआईयू के सहयोग से छापामारी कर वैज्ञानिक अनुसंधान के आधार पर इस कांड में संलिप्त अप्राथमिकी अभियुक्त अंजू देवी और रंजीत यादव को गिरफ्तार किया गया है. आरोपी रंजीत यादव मृतक अरुण कुमार के चचेरा बड़ा भाई है और अपने प्रेमिका के रिश्ते में भैसुर लगता है.

दैविक प्रकोप का बहाना से आया नजदीक

आरोपी रंजीत यादव गांव में तांत्रिक उर्फ साधु जी के नाम से जाना जाता है. गांव में झार-फूंक (तांत्रिक) का काम करता है . और मृतक अरुण के गोतिया में चचेरा बड़ा भाई है . मृतक अरुण की पत्नी अंजू देवी की सुंदरता के कारण उसे पसंद करता था . बताया जाता है कि मृतक अरुण मानसिक रूप से थोड़ा कमजोर था. जिसके कारण पत्नी अंजू देवी अपने पति से संतुष्ट नही थी और अंजू भी अक्सर बीमार रहती थी . जिसका फायदा आरोपी ने उठाकर झार-फूंक करने का काम करता था . दैविक प्रकोप का बहाना बनाकर उससे नजदीकी बढ़ा ली और उसके साथ अवैध संबंध बना लिया . जिसके बाद दोनों में धीरे-धीरे प्रेम संबंध गहरा होते गया और प्रेमिका गर्भवती होने के कारण वो अपने मायके चली गई . उसके बाद भी मायके में रहने के बावजूद भी दोनों का फोन पर बात और कभी-कभी मिलना जुलने का सिलसिला जारी रहा .

बसंत पंचमी के दिन हत्या की प्लानिंग की

दो महीने पहले प्रेमिका के बच्चे होने के बसंत पंचमी में वो अपने ससुराल आने वाली थी ,प्रेमिका अंजू से मिलने में दिक्कत कहीं मृतक अरुण बाधा उत्पन्न नहीं करे . इसलिए अरुण को रास्ते से हटाने के लिए आरोपी रंजीत और अरुण की पत्नी अंजू देवी ने बसंत पंचमी के दिन हत्या की प्लानिंग की . क्योंकि लोग पूजा में व्यस्त रहेंगे और खेत खलिहान में नही जाएंगे . जिसके बाद प्रेमी ने प्लानिंग के तहत अरुण को इशारे से बुलाया और उसे एकांत में ले जाकर पत्नी अंजू देवी से मिलने की बात बतायी,जिसके बाद अरुण तुरंत तैयार हो गया .

बैठ कर गर्दन में रस्सी लगाकर खींच दिया

आरोपी मृतक को सपहां बधार में बैर के पेड़ के नीचे ले गया. मृतक अरुण को बोला कि पेट के बल नीचे लेट जाओ तो तुम्हारी पत्नी तुरंत आ जायेगी ,जैसे ही अरुण नीचे लेटा तो उसके पीठ के ऊपर बैठ कर गर्दन में रस्सी लगाकर खींच दिया. जिससे अरुण की दम घुटने से मौत हो गयी . उसके बाद आरोपी मृतक को छोड़कर वापस घर आ गया . जब परिजनों ने खोजबीन करने लगे तो आरोपी भी उनलोगों के साथ खोजबीन में चला गया ताकि परिजनों को शक ना हो .

यह हत्या अवैध संबंध में किया गया

वही, इस मामले में एएसपी हिमांशु ने बताया कि पांच फरवरी को हुए हत्याकांड का खुलासा हुआ है . यह हत्या अवैध संबंध में किया गया है . दोनों ने फोन पर हत्या की प्लानिंग की थी . हत्या के दिन मृतक की पत्नी अपने मायके में थी . पत्नी ने साजिश के तहत प्रेमी से हत्या कार्यवाई है. दोनो प्रेमी-प्रेमिका को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा रहा है .स्पीडी ट्रायल चलाकर सजा दिलाने का काम करेगी भोजपुर पुलिस .

रिपोर्ट: राकेश कुमार

India Ahead Hindi.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here