पीएम मोदी की सुरक्षा में चूक पर कमलनाथ का कड़ा हमला, ‘ये देश के सम्मान का विषय!’

17

भोपाल: कमलनाथ ने प्रेस वार्ता के दौरान केंद्र और राज्य की बीजेपी सरकार  पर जमकर हमला किया. मध्य प्रदेश में चल रहे ओबीसी मामले पर कमलनाथ ने कहा कि मैंने विषय विधानसभा में उठाया, मैं स्थगन प्रस्ताव लाया और संकल्प पारित हुआ.

अब कानूनी कार्रवाई भाजपा को करनी चाहिए. भाजपा ओबीसी विरोधी है, बताएँ 15 साल में ओबीसी के लिए क्या किया और कौन सा कानून बनाया. इसी के साथ कमलनाथ ने पीएम मोदी  की सुरक्षा में चूक पर कड़ा हमला किया.

‘इसका राजनीतिकरण करना गलत, ये देश के सम्मान का विषय’
पंजाब में पीएम मोदी की सुरक्षा में हुई चूक को लेकर उन्होंने कहा इस विषय का राजनीतिकरण करना बहुत गलत है, यह देश के सम्मान का विषय है, भाजपा हर चीज़ में सिर्फ नाटक और नौटंकी कर रही है. इस मामले की जांच हो रही है. दोषीयों पर सख्त कार्रवाई हो. इसी के साथ उत्तर प्रदेश चुनाव में कांग्रेस की स्थिति को लेकर कमलनाथ ने कहा प्रियंका गांधी बहुत परिवर्तन लाई हैं, यूपी चुनाव में परिणाम बहुत आश्चर्यजनक होंगे.

स्थिति को लेकर कमलनाथ ने कहा प्रियंका गांधी बहुत परिवर्तन लाई हैं, यूपी चुनाव में परिणाम बहुत आश्चर्यजनक होंगे.

शिवराज सरकार पर जमकर बरसे
शिवराज सरकार पर ओबीसी मामले पर कमलनाथ ने कहा कि obc वर्ग की 1210 करोड़ की स्कॉलरशिप बाकी है, 27 परसेंट ओबीसी आरक्षण और चुनाव में आरक्षण सरकार दे. शिवराज सरकार ने हमारी कई योजनाएं बंद कर दी. पंचायत चुनाव को लेकर कमलनाथ ने कहा सरकार कभी चुनाव नहीं कराना चाहती थी यह सिर्फ नौटंकी थी. काला अध्यादेश और काला कानून सरकार लायी थी, हम उसके खिलाफ कोर्ट गए थे. मैं मांग करता हूँ 2 महीने में रोटेशन और परिसीमन के साथ पंचायत चुनाव कराए जाएं. पंचायत चुनाव जल्द नहीं हुए तो हम हर गांव और ब्लॉक में आंदोलन करेंगे. कमलनाथ ने कहा आज प्रदेश का हर

वर्ग परेशान है. गवर्नेंस पूरी तरह से चौपट हो चुकी है. ओलावृष्टि ने किसानों को बहुत प्रभावित किया है, एडमिनिस्ट्रेशन ने कोई इंतजाम नहीं किये.

‘मैं सीएम की कुर्सी के लिए नहीं दौड़ रहा’
आगे कमलनाथ ने कहा मैं सीएम की कुर्सी के लिए नहीं दौड़ रहा हूँ, मेरा लक्ष्य है एमपी की तस्वीर बदले. सौदे की राजनीति के मैं खिलाफ हूं. आदि शंकराचार्य की विशाल प्रतिमा लगाने की घोषणा पर कमलनाथ ने कहा अभी सिर्फ घोषणा है, जब बजट आएगा तब हम बात करेंगे. 2018 में हमारी सरकार सिर्फ किसानों के कारण नहीं आयी. जनता भाजपा से नाराज़ थी. हमारी अर्थव्यवस्था किसानों पर आधारित थी. किसानों की जेब में पैसा होना बेहद ज़रूरी है. किसानों को सशक्त और मजबूत करने के मुद्दे हमारे घोषणा पत्र में ज़रूर होंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here