छात्र राजद के द्वारा पटना विश्वविद्यालय शताब्दी द्वार पर भारी विरोध, प्रदर्शन एवं टायर जलाकर प्रतिरोध किया गया

20

पटना विश्वविद्यालय प्रशासन के द्वारा बीएड की फीस में की बढ़ोतरी सहित विश्वविद्यालय के लचर व्यवस्था एवं हर साल की तरह इस साल भी सीनेट की बैठक में छात्र विरोधी एजेंडे को पास करने के खिलाफ छात्र राजद के द्वारा पटना विश्वविद्यालय शताब्दी द्वार पर भारी विरोध प्रदर्शन एवं टायर जलाकर प्रतिरोध किया गया.

 मौके पर मौजुद छात्र राजद के प्रदेश अध्यक्ष गगन कुमार ने कहा की बी.एड के फीस में अप्रत्याशित तरीके से वृद्धि किया जा रहा है, पटना विश्वविद्यालय का द्वार गरीबों के लिए बंद करने की तैयारी हो रही है.
छात्र राजद गरीबों के साथ मज़बूती से खड़ा है. पटना विश्वविद्यालय के कुलपति को बी. एड में फीस वृद्धि को वापस लेना होगा अगर इस छात्र विरोधी फैसले को वापस नहीं लिया जाता है तो आने वाले समय छात्र राजद उग्र प्रदर्शन करेगा.

इस मौके पर पटना विश्वविद्यालय अध्यक्ष मनीष निगम, प्रदेश उपाध्यक्ष बेलाल खान, धीरज सिंह यादव, रंजन यादव, कदीम आलम, संतोष कुमार, नंदन कुमार, हिमांशु, अंशु कुमार, फैय्याज़ करीम, आसीफ़, ऋषु, उज्जवल, आर्यन सहित सैकड़ों छात्र मौजुद रहे

जानकारी के लिए बता दें कि पटना विश्वविद्यालय के पटना ट्रेनिंग कॉलेज बीएड की फीस 1800 रुपये प्रतिवर्ष है. इसमें भी वीमेंस ट्रेनिंग कॉलेज में नामांकन लेने वाली छात्राओं को फीस नहीं देनी होती. जबकि पटना विश्वविद्यालय के ही पटना वीमेंस कॉलेज में फीस 1,50,000 रुपये तक से अधिक है. पटना उच्च न्यायालय बीएड कोर्स की नामांकन फीस 1,50,000 रुपये तक लिए जाने का आदेश राज्य के प्राइवेट अनएडेड एवं स्ववित्तपोषित टीचर्स ट्रेनिंग संस्थानों पर प्रभावी है न कि पटना यूनिवर्सिटी के दोनों अग्रणी टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेजों पर.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here