क्या कर्नाटक में तिरंगा उतारकर भगवा झंडा फहराया? वायरल वीडियो कहती है आधी कहानी. हम बता दे रहे पूरी सच्चाई

38

कर्नाटक में कुंडापुरा कॉलेज से हिजाब  को ​लेकर शुरू हुआ विवाद अब सियासी रूप इख्तियार कर चुका है.

कुंडापुरा कॉलेज में 28 मुस्लिम छात्राओं को हिजाब पहनकर क्‍लास अटेंड करने से रोके जाने के बाद हाईकोर्ट में याचिका लगाई गई थी. कोर्ट में चल रही सुनवाई से इतर इस मामले पर देश भर में सियासत तेज हो गई है. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी इसे महिला की आजादी से जोड़ते हुए बयान दे डाला तो वहीं एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी भी केरल हाईकोर्ट को कोट करते हुए इसे इस्लाम का इसेंशियल फीचर्स बताते हुए छात्राओं के पक्ष में खड़े हैं. इस बीच कॉलेज में भगवा झंडा फहराते हुए हिंदू छात्राओं की एक वीडियो वायरल हो रही है.

वायरल वीडियो को शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि हिंदू छात्रों ने कॉलेज में राष्ट्रीय ध्वज​ तिरंगा उतारकर भगवा झंडा फहरा दिया. आपत्ति जताने के बाद कुछ अन्य छात्रों ने भगवा झंडे को उतारकर ​फिर से तिरंगा फहराया.

इस वीडियो में कितनी सच्चाई है, आइए इसकी पड़ताल करते हैं.

वायरल वीडियो में क्या है?

दरअसल दो दिन पहले एक वीडियो में हिजाब पहने एक लड़की, जिसकी पहचान कॉलेज की छात्रा मुस्कान के रूप में हुई है, वह कॉलेज में एंट्री कर रही थी और भीड़ में कुछ छात्र भगवा झंडे के साथ हूटिंग करते और जय श्री राम के नारे लगाते नजर आए थे. इस घटना के बाद एक वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है, जिसमें देखा जा सकता है कि कॉलेज परिसर में लगे पोल पर युवक भगवा ध्वज लगा रहा है और नीचे खड़े छात्र भगवा शॉल लहराते हुए नजर आ रहे हैं. दावा किया जा रहा है कि पोल पर से तिरंगा उतारकर छात्रों ने भगवा ध्वज फहराया।

लेकिन क्या ये पूरी तरह सच है?

वीडियो में ये तो दिख रहा है कि छात्र भगवा झंडा फहरा रहे हैं, लेकिन यह स्पष्ट नहीं है कि उन्होंने भगवा फहराने से पहले तिरंगे को उतारा हो या हटाया हो. इस संबंध में हमने कुछ न्यूज की-वर्ड्स के साथ इंटरनेट पर सर्च किया तो कई सारी मीडिया रिपोर्ट्स सामने आईं. हालांकि किसी मीडिया रिपोर्ट में तिरंगा उतारने की फोटो या वीडियो नहीं दिखी. यहां तक कि पोल पर पहले तिरंगा फहराया हुआ था, इसका प्रमाण भी नहीं मिला.

समाचार ANI न्यूज एजेंसी के ट्विटर अकाउंट पर इस घटना को लेकर एक ट्वीट मिला. इसमें कर्नाटक के शिवमोगा जिले के एसपी बीएम लक्ष्मी प्रसाद बता रहे हैं कि पोल पर पहले से तिरंगा नहीं था. उस खाली पोल पर छात्रों ने भगवा ध्वज फहराया था और कुछ देर बाद ही उन्होंने इसे खुद हटा दिया था.

बाद की कुछ रिपोर्ट्स भी हमें मिलीं, जिसमें बताया गया है कि शिवमोगा के कॉलेज में जिस पोल पर भगवा ध्वज फहराया गया था, उसी पोल पर राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा फहराया गया है. सुरक्षा को लेकर वहां पुलिस के फ्लैग मार्च करने की भी खबरें सामने आईं.

झूठा साबित हुआ दावा

स्पष्ट है कि सोशल मीडिया पर जिस वायरल वीडियो के साथ दावा किया जा रहा था कि पोल पर से तिरंगे को उतारकर भगवा ध्वज फहराया गया है, वह दावा गलत साबित होता है. शिवमोगा के कॉलेज में पोल से तिरंगा भगवा ध्वज नहीं फहराया गया था. बल्कि पहले खाली पोल पर भगवा ध्वज फहराया गया था और फिर उसी पोल पर से भगवा ध्वज हटाकर तिरंगा फहराया गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here