कोलकाता :फिर बीरभूम जैसी हिंसा, एक शख्स की हत्या के बाद भीड़ ने जला डाले कई घर, 39 गिरफ्तार

18

कोलकाता: पश्चिम बंगाल के पूर्वी बर्दवान जिले में एक शख्स की हत्या के बाद कई घरों में आग लगा दी गई है। दरअसल, मनोज घोष ने रविवार (3 अप्रैल 2022) को हाथापाई के बाद कुल्हाड़ी से काटकर मछली व्यवसायी उत्पल घोष का क़त्ल कर दिया था।

उत्पल जिले के गलसी थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले लोआ संतोषपुर गाँव के निवासी थे। रिपोर्टों में बताया गया है कि दोनों के बीच आपसी रंजिश थी। मनोज रविवार को उत्पल के घर पहुंचा और उसे फिर किसी काम के बहाने बाहर बुलाया। बाद में उत्पल की लाश सड़क पर पड़ी मिली। पास में ही कुल्हाड़ी भी पड़ी थी। इसके बाद गाँव में दहशत फ़ैल गई।

घटना के फ़ौरन बाद पुलिस ने मनोज सहित पाँच लोगों को हिरासत में लिया। उसने हत्या की बात स्वीकार कर ली, जिसके बाद पुलिस ने उसे औपचारिक रूप से अरेस्ट कर लिया। कथित तौर पर मनोज और उत्पल में बहस हो गई थी। इस दौरान मनोज ने कुल्हाड़ी उठाई और उत्पल को मार डाला। पुलिस ने उत्पल के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। सोमवार (4 अप्रैल 2022) को जब शव गाँव पहुँचा तो ग्रामीणों ने गुस्सा होकर मनोज, उसके चाचा खेत्रनाथ घोष और हरधन घोष के घरों पर हमला कर दिया। उन्होंने उनके घरों के बाहर पुआल में आग लगा दी। गुस्साई भीड़ ने घरों के आसपास खड़े वाहनों को भी आग लगा दी।

घटना के समय पुलिस मौके पर पहले से तैनात थी। मगर वह भीड़ को काबू नहीं कर सकी। हिंसा के बाद कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए रैपिड एक्शन फोर्स (RAF) की कंपनियों की तैनाती की गई है। पुलिस अधीक्षक (SP) कामनाशीश सेन ने एक बयान में कहा कि कत्ल के आरोप में मनोज घोष को अरेस्ट किया गया है। पुलिस ने हिंसा में शामिल कई लोगों को अरेस्ट भी किया है। उन्होंने आश्वासन दिया कि जल्द ही सभी दोषियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। हिंसा और आगजनी मामले में अब तक 39 लोगों को अरेस्ट किया जा चुका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here